Concept Computer Education (Since : 2014)

Contact : +91 9650597419 (Er. Vinay Kumar Sah)

इस कोर्स में आपको Software, Website, App और Game बनाना सिखाया जाता हैं।

Address: Near Govt. Sr. Sec. School, Narsinghpur, Gurugram, Haryana, 122004
Computer Notes Available in Hindi & English Medium
कंप्यूटर डेमो नोट्स देखने के लिए यहाँ क्लिक करें : Computer Demo Notes
1. Basic Computer PDF Notes : Buy Now
2. Computer GK PDF Notes : Buy Now
3. Computer MCQ PDF Notes : Buy Now
4. CCC PDF Notes : Buy Now
5. MS Word PDF Notes : Buy Now
6. Basic Excel PDF Notes : Buy Now
7. Adv. Excel PDF Notes :Buy Now
8. Internet PDF Notes : Buy Now
9. Tally Prime PDF Notes : Buy Now
10. C Language PDF Notes : Buy Now
11. C++ PDF Notes : Buy Now
12. HTML PDF Notes : Buy Now
13. CSS PDF Notes : Buy Now
14. Java Script PDF Notes : Buy Now
15. PHP PDF Notes : Buy Now
16. Photoshop PDF Notes : Buy Now
17. Computer Repair PDF Notes : Buy Now
18. Laptop Repair PDF Notes :Buy Now
19. Website Design PDF Notes : Buy Now
20. Python PDF Notes : Buy Now
21. Digital Marketing PDF Notes : Buy Now

Cloud Computing क्या है? Cloud Computing की पूरी जानकारी हिंदी में।

नमस्कार दोस्तों 
मै विनय आपका दोस्त 
आपका बहुत बहुत स्वागत है 
आशा करता हूँ आप अच्छे और सवस्थ होंगे
Cloud Computing क्या है ? Cloud Computing की पूरी जानकारी हिंदी में। 


दोस्तों जैसे जैसे जमाना आगे बढ़ रहा है वैसे वैसे रोजाना कोई न कोई technology का आगमन हो रहा है। दुनिया से कदम से कदम मिलाकर चलना है तो हमें इन technology के बारे में जानना आवश्यक होता है। तो आखिर क्या है ये Cloud Computing और ये क्या करती है। अगर आपके मन में उठ रहे है है ऐसे ही ढेरों सवाल तो हमारी इस पोस्ट को शुरू से अंत तक जरूर पढ़ें। 

Cloud Computing क्या होता हैं ? What is Cloud Computing in Hindi?
Cloud Computing वह technology है जिसमें इंटरनेट का इस्तेमाल करके विभिन्न तरह की सेवाएँ प्रदान की जाती हैं। यह सेवाएँ कुछ भी हो सकती हैं। फिर चाहे किसी प्रकार का सॉफ्टवेयर हो या सर्वर पर storage space दिया जाना हो या कोई अन्य सेवा हो। 
क्लाउड कंप्यूटिंग का मतलब हैं किसी भी तरह के अपने डाटा को Computer Hard Disk में स्टोर करने के बजाय Internet पर Store करना। 
जब आप Local Storage अर्थात Hard Disk में डाटा को रखते है तो उसे आप सिर्फ अपने Computer से ही Access कर सकते हैं लेकिन Cloud Computing में ऐसा नहीं होता है। 
आसान भाषा में अगर Cloud Computing को समझाएं तो इस Technology में User को Internet के एक Server पर (जिसे Cloud कहा जाता है) Data Storage की Facility प्रदान की जाती है। 
ऐसे में Cloud पर Space खरीद कर User अपना कितना भी Data उस पर Save कर सकता है और अपने Data को फिर दुनिया में कही से भी Access कर सकता है। 

Cloud Computing के उदहारण 
Example of Cloud Computing 
Cloud Computing Technology के अनेको उदहारण आज दुनिया में मौजूद है। जिसमे से कुछ प्रसिद्ध उदाहरण हम आपके सामने पेश करते है। 
1. Youtube: Youtube एक प्रसिद्ध वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म है जहाँ पर रोज लाखों वीडियो अपलोड होते हैं। ऐसे में youtube इतने सारे वीडियो को स्टोर करने के लिए cloud computing technology इस्तेमाल करता है। 
2. Facebook: Facebook जैसा famous social media plateform जिस पर अरबों लोगों की प्रोफाइल हैं और बहुत सारा डाटा मौजूद है तो ऐसे में इतने सारे डाटा को रखने के लिए facebook भी cloud computing technology  प्रयोग करता है। 
3. Emails: Email सेवा प्रदान करेने वाली सारी कंपनी जैसे कि yahoo, gmail, rediff व online storage space देने वाली कम्पनियां जैसे कि dropbox, yandex, media fire, मेगा आदि सभी कम्पनियां cloud computing technology का ही इस्तेमाल करती हैं।

Cloud Computing का इतिहास 
History of Cloud Computing
Cloud Computing की शुरुआत 1960 के दशक की मणि जाती है। तब इंटरनेट की ठीक से शुरुआत भी नहीं हुई थी। Cloud Computing की असल शुरुआत इसके 30 से 40 साल बाद 1990 में हुई। जब salesforce नाम की company ने अपनी वेबसाइट के लोगो को सेवाएं प्रदान करना शुरू किया। इसके बाद से लोगो ने इसके महत्व को समझना शुरू किया और इसके बाद ही पता चला कि यह आने वाले समय में कितनी महत्वपूर्ण चीज साबित हो सकती है। इसके कई सालों बाद इस फील्ड ने तेजी पकड़ी और 21 वी शताब्दी में आकर के अमेज़न, गूगल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कई दिग्गज कंपनियों ने Cloud Computing की फील्ड में अपनी सेवाएं देना शुरू किया। 

Cloud Computing कैसे काम करता हैं?
How Cloud Computing Works?
Cloud Computing में कई सारे servers यानि Computers जिन पर एक विशेष Software Install रहता है और उसे काम में लिया जाता है। Cloud Computing मूलतः Dual Layers Technology पर काम करता है। जहाँ Servers को Manage करने के लिए एक अलग Layer होती है। जिसे Back end कहते है और दूसरी Layer जिसे Client इस्तेमाल करते है इसे Front end कहते है। इसी तरह Back end और Front end दोनों मिलकर एक पूरा Cloud Computing के लिए Server Setup होता है। 

Cloud Computing के प्रकार 
Types of Cloud Computing 
Cloud Computing को दो अलग अलग तरीकों के आधार पर विभाजित किया गया है। 
A. Deployment के आधार पर 
B. Cloud के द्वारा प्रदान की जाने वाली service के आधार पर 

A. Deployment के आधार पर Cloud Computing के निम्न प्रकार हैं। 
i) Public Cloud Computing 
   Public Cloud हर व्यक्ति के लिए उपलब्ध रहता है और यह service provider द्वारा manage किया जाता है। Public Cloud Services कई बार फ्री रहती है या इनके लिए बहुत कम चार्ज किया जाता है। 
Amazon Web Services और Microsoft Azure ये सभी Public Cloud के उदाहरण है। 

ii) Private Cloud Computing 
    Private Cloud Computing में services और network एक private cloud पर store किये जाते है। इसमें यूजर अपने को cloud storage को किसी अन्य व्यक्ति के साथ share नहीं करना होता है। 
जैसे कि Google Drive एक private cloud computing का उदाहरण है। यहाँ आपके सारा डाटा email id और password से सुरक्षित रहते है और इसमें आपका drive आपके अलावा कोई और उपयोग नहीं कर सकता।         
iii) Community Cloud Computing
Community Cloud Computing सिर्फ एक समूह के लोगों के लिए उपलब्ध रहती हैं। इसके अलावा कोई अन्य बाहरी इंसान इस डाटा को access नहीं कर सकता। जैसे कि उदाहरण के रूप में किसी सरकारी office के लिए सिर्फ उसके कर्मचारी ही उसकी साईट पर उपलब्ध डाटा का इस्तेमाल कर सकते हैं या किसी Institute द्वारा बनायीं गयी वेबसाइट पर उपलब्ध सामग्री का उपयोग केवल उस institute के विद्यार्थी ही कर सकते हैं। 

iv) Hybrid Cloud Computing 
Hybrid Cloud में private cloud और public cloud दोनों का इस्तेमाल किया जाता है। किसी साइट पर कुछ सामग्री केवल registered लोगों के लिए उपलब्ध हो और कुछ सामग्री सार्वजानिक उपलब्ध हो तो ऐसे cloud को Hybrid Cloud कहते है।       

B. Cloud के द्वारा प्रदान की जाने वाली service के आधार पर Cloud Computing के निम्न प्रकार हैं। 
i) Iaas  (Infrastructure as a service): इस तरह की service में cloud का computing power, storage, software, network power और बाकी सारा control user के पास होता है। इस service को मूल रूप से business के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण VPS यानि Virtual Private Server है। जिसमें आपको software और Network के साथ साथ computing power भी मिलती है। 

ii) Paas(Platform as a service): इस तरह की service में user को सिर्फ एक platform मिलता है। जिसमें या तो storage या computing power हो सकती है। इसमें आप चीजों को पूरी तरह control नहीं करते हैं। इसे cloud provider ही control कर सकते है। इसके उदाहरण हैं : Gmail, Rediffmail, Yahoo इत्यादि। 

iii) Saas(Software as a service): इस तरह की service में user को remote server पर hosted केवल एक software ही मिलता है। जिसका इस्तेमाल किसी निश्चित काम के लिए किया जाता है। इस तरह की services को ज्यादातर छोटे business वाले काम में लेते हैं। इस तरह की service में किसी भी तरह का software हो सकता है। जैसे : Google document, Google sheet इत्यादि ये सभी Saas के उदाहरण है। 

Cloud Computing के लाभ 
Advantage of Cloud Computing
1. ज्यादा स्टोरेज ( Large Storage)
इसमें आपका पूरा डाटा Cloud पर save होता है। जिसमे आप अपनी मर्जी और जरुरत के अनुसार अपना storage बढ़ा सकते है। 

2. Data Access करने में आसानी (Ease of Data Access)
Cloud पर data store करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप इसे कहीं से भी और किसी भी device से access कर सकते है। जरुरत है तो सिर्फ internet connection की जिसे इस्तेमाल करके आप अपने cloud को access कर सकते है। 

3. ज्यादा प्रोसेसिंग पावर (Large Processing Power)
Cloud Computing पर आपको processing power के साथ समझौता करने की कोई जरुरत नहीं है। इसमें आप जितना चाहे उतना processing power खरीद सकते हैं। 

4. कम कीमत (Less Price)
Cloud Computing में आप अपनी जरुरत के अनुसार storage space खरीद सकते हैं और आपको सिर्फ उतने के ही पैसे चुकाने पड़ते हैं। जैसे कि अगर आपको 20 GB storage की जरुरत है तो आप 20 GB के पैसे चूका कर इतना ही space खरीद सकते हैं। इसके लिए आपको 500 GB Hard Disk नहीं खरीदनी पड़ेगी। 

तो ये थी दोस्तों cloud computing से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी। हम आशा करते है कि आपको cloud computing किसे कहते है समझ में आ गया होगा। यदि यह जानकारी आपको अच्छा लगा हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें। हमारे फेसबुक पेज को लाइक जरूर करें।

हमारे द्वारा बनाये गये कंप्यूटर नोट्स जरूर ख़रीदे :
Basic Computer, MS Paint, Notepad, Wordpad, MS Word, MS Excel, MS Powerpoint, Internet
नोट्स में यह सभी टॉपिक आपको मिलेगा। Rs. 299/-  वाला नोट्स मात्र Rs. 99/- रुपये में। 
Offer Code : vinaytips2021
नोट्स खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें : Buy Now :  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Online कंप्यूटर सीखें हिंदी में। नीचे क्लिक करे और पढ़े।

MS Paint Practice Assignment
1.Computer क्या है ? Computer की पूरी जानकारी हिंदी में।
2. कंप्यूटर या लैपटॉप में बिना नाम का folder कैसे बनाते है ?
3.कंप्यूटर या लैपटॉप में बिना दिखाई देने वाला फोल्डर कैसे बनाये?
4.कंप्यूटर में फोल्डर का आइकॉन कैसे बदले ?
5.कंप्यूटर में CON नाम का फोल्डर कैसे बनाते है ?
6.किसी भी फोल्डर में पासवर्ड कैसे लगाते है?
7.किसी भी फोल्डर पर अपना फोटो कैसे लगाये ?
8.कंप्यूटर में taskbar को कैसे छुपाये?
9.Desktop icon क्या है पूरी जानकारी हिंदी में।
10.Mouse से Keyboard कैसे चलाये?
11.Keyboard से Mouse कैसे चलाये ?
12.Whatsapp Status Download कैसे करे ? (Photo & Video)
13.Whatsapp पर किसी ने message सेंड कर के delete कर दिए तो उसे फिर से कैसे देखे ?
14.Keyboard क्या है ? कितने प्रकार के होते है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
15.keyboard में कितने प्रकार की keys होती है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
16.Keyboard के सभी symbols का नाम हिंदी में
17.Mouse क्या है? Mouse की पूरी जानकारी हिंदी में।
18.Monitor क्या है ? Monitor कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
19.Speaker क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में। What is Speaker? Full Detail in Hindi
20.Printer क्या है ? Printer कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
21.Plotter क्या है ? Plotter कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
22.Scanner क्या है ? Scanner कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
23.Motherboard क्या है ? Motherboard कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
24.कंप्यूटर मदरबोर्ड पर कौन कौन से पार्ट्स लगे होते है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
25.RAM क्या है ? RAM कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
26.ROM क्या है ? ROM कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
27.Processor क्या है ? Processor कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
28.Hard Disk क्या है ? Hard Disk कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
29.CMOS क्या है ? CMOS कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
30.BIOS क्या है ? BIOS कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
31.USB क्या है ? USB कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
32.SMPS क्या है ? SMPS कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
33.Headphone क्या है ? Headphone कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
34.VGA Port और VGA Cable क्या होते हैं? पूरी जानकारी हिंदी में।
35.Power Cable क्या है ? Power Cable कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
36.WIFI क्या है ? WIFI कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
37.CCTV Camera क्या है ? CCTV Camera कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
38.CPU क्या है ? CPU कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
39.Operating System क्या है ? Operating System कितने प्रकार के होते है? पूरी जानकारी हिंदी में।
40.MS Paint क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
41.Notepad क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
42.MS Office क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
43.Tally क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
44.Photoshop क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
45.Corel Draw क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
46.Typing Master क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
47.VLC Media Player क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में।
48.Google Chrome क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में।